मौजां ही मौजां-2

0
लेखिका : शमीम बानो कुरेशी मैंने भी अपने सीने को उभारा और मैं इतरा कर उसके साथ साथ चलने...

सम्भोग प्रबन्धन

0
प्रेषक : लवगुरु खान सभी पाठकों के उत्तेजित भरे लिंगों एवं योनियों को आदित्य शर्मा, रांची के लंबे लिंग...

सोनू से ननदोई तक-6

0
जैसे मैंने अन्तर्वासना पर पिछले भाग में बताया : रात को मेरी खाट पर मेरी रजाई में मैंने किसी...

मैं, मेरी बीवी और भाभी-1

0
प्रेषक : गोरिया कुमार मेरे तायाजी के लड़के यानि सुमित भैया कनाडा में दो साल के ट्रेनिंग के लिए...

बुआ हो तो ऐसी-1

0
(प्रेम गुरु द्वारा संशोधित एवं संपादित) घर की मौज हर किसी को नसीब नहीं होती पर शायद मैं इस...

दोस्ती का उपहार-1

0
दोस्तो, मेरा आप सभी को लण्ड हाथ में लेकर प्यार भरा नमस्कार। मैं पहले ही बता चुका हूँ कि...

जमशेदपुर की गर्मी-1

0
प्रेमशीर्ष द्वारा लिखित एवम् प्रेम गुरु द्वारा संशोधित और संपादित मैं प्रेमशीर्ष अपनी पहली कहानी लेकर हाज़िर हूँ। मैं...

दोस्त दोस्त ना रहा

0
यह उस समय की बात है जब मैं कुछ दिनों के लिए दिल्ली रहने के लिए गया था। रोहिणी में मैंने किराये...

भैया की नाकामी

0
प्रेषक : हर्ष मेहता यह मेरी पहली कहानी है जो हकीकत है! मैं चंडीगढ़ मैं रहता हूँ अपने परिवार...

होली के बहाने

0
लेखक : सनी गुरु जी को बहुत बहुत प्यार, नमस्कार ! सभी अन्तर्वासना के पाठकों और मेरे आशिकों को...