हेल्लो दोस्तो!
मेरा नाम रमीज़ है, 24 साल का हूँ, हैदराबाद में रहता हूँ और मैं एक अच्छा बॉडी बिल्डर हूँ क्योंकि मैं रोज़ जिम जाता हूँ।
यह कहानी मेरी और मेरी सेक्सी चाची की है।

हमारे घर पर हम 5 लोग रहते है मैं मेरे मम्मी पापा मेरे चाचा और मेरी सेक्सी चाची।

आज से 2 साल पहले मेरा जन्म दिन था और मैंने मेरे घर पर सब को बता दिया था कि आज रात को घर पर पार्टी है और सब लोग समय पर आ जाएँ।

सब के सब घर पर समय पर आ गये और मैंने 9 बजे रात को केक काटा। सब ने मुझे गिफ्ट दिया पर मेरी चाची ने मुझे कोई तोहफ़ा नहीं दिया। जब मैंने चाची को गिफ्ट देने को कहा तो उन्होंने कहा कि सही समय आने पर वो दे देंगी। तो मैं उस समय कुछ नहीं समझा और कुछ दिन बाद मेरे चाचा को उन के काम से शहर से बाहर जाना था और उसी बीच मेरी दादी की तबियत ख़राब हो गई। मेरी दादी गाँव में रहती हैं और मेरे मम्मी पापा को वहाँ जाना था। सभी लोग चले गए और घर पर मैं और मेरी चाची ही थे।

मम्मी और पापा के जाने के बाद मैंने चाची से कहा- मैं मूवी देखने जा रहा हूँ अपने दोस्तों के साथ! शाम को लौटूंगा!

फिर मैं शाम को 5.30 बजे घर आया, चाची ने मुझे खाना दिया। खाना खा कर घूमने के लिए बाहर चला गया और रात को 9 बजे घर आया और फिर चाची ने मुझे खाने के लिए बुला लिया।

चाची ने मुझे पूछा- कौन सी मूवी देखी है?
तो मैंने शरमाते हुए चाची से कहा- मर्डर देखी है।
तो चाची बोली- तो तू इतना क्यों शरमा रहा है?

मैं समझा कि चाची को वो मूवी के बारे में कुछ नहीं पता है और फिर मैंने मजाक में चाची से पूछा- चाची क्या हुआ, एक हफ्ते पहले आप और चाचा डॉक्टर के पास गए थे, क्या हुआ? क्या बोला डॉक्टर ने? आप माँ बनने वाली हैं? और मैं कब भैय्या बोलने वाला का मुँह देखूँगा?

तो चाची एकदम रोने लगी। तो मैंने उनके करीब जाकर पूछा- क्या हुआ चाची? आप क्यों रो रही हैं?

तो उन्होंने कहा- मैं कभी माँ नहीं बन सकती हूँ!

तो मैंने चाची से कहा- ऐसे कैसे नहीं बनेगी आप माँ! ये डॉक्टर लोगों को क्या मालूम कि जो करता है सब ऊपर वाला करता है! चाची खामोश हो गई और फिर मैंने खामोशी को तोड़ते हुए चाची को मजाक मैं कह दिया कि अगर मैं होता तो आपको माँ बना देता!

इस पर चाची ने मेरी तरफ देखा, मुस्कुराई और बोली- धत!

और फिर हम दोनों ने खाना ख़त्म किया और हम लोग सोने चले गए। पर रात को गर्मी के कारण मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैंने जाकर चाची से कहा- क्या मैं यहाँ सो सकता हूँ।

चाची ने कहा- क्यों तुम्हारे कमरे को क्या हुआ?
मैंने कहा- वहाँ बहुत गर्मी हो रही है।
चाची ने कहा- सो जाओ!

मैंने अपना बिस्तर नीचे लगा लिया और सो गया कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा और एक रात चाची ने मुझे कहा- तुम यहाँ मेरे साथ ऊपर सो जाओ।
तो मैंने उनसे कहा- मुझे अकेले ही सोने की आदत है!
चाची ने कहा- मुझे साथ सोने की आदत है पर मैं तो अकेली ही सो रही हूँ, आओ, मेरे साथ सो जाओ!

मैं उनके साथ सोने के लिए ऊपर बिस्तर पर चला गया। पर चाची उस समय सिर्फ ब्रा और पेटिकोट में ही थी। मैंने चाची से कहा- आप तो सिर्फ ब्रा और पेटिकोट में ही सो रही हैं?
तो क्या हुआ! तुम जैसे सोते हो वैसे ही सो जाओ!
मैंने चाची को कहा- मुझे तो सिर्फ अन्डरवीयर में ही सोने की आदत है!
तो चाची ने कहा- तो क्या हुआ, तुम यहाँ भी वैसे ही सो जाओ!

मैं अपने अंडरवीयर पहने ही उनके साथ सो गया। रात को मुझे मेरे पेट पर किसी का हाथ महसूस हुआ, मैंने अपनी आँख खोली तो वो चाची का हाथ था। मैं समझा कि वो नींद में हैं, इसी लिए उनका हाथ मेरे ऊपर आ गया होगा। मैं वैसे ही सो गया और फिर दूसरे दिन भी हम लोग वैसे ही सोये। आज चाची मेरे करीब आई। मैंने चाची को कहा- मुझे नींद नहीं आ रही है। तो हम लोग बातें करने बैठ गए और बातों बातों में मैंने चाची से मेरा गिफ्ट पूछ लिया तो चाची ने कहा कि उनके पास मुझे देने के लिए एक गिफ्ट है जो वो आज मुझे देना चाहती है।
मैंने चाची को कहा- मुझे वो गिफ्ट अभी चाहिए!
तो चाची ने अपनी ब्रा का हूक खोला और कहा- यही है जो मैं तुमको देना चाहती थी।
मैंने चाची से कहा- यह गलत है!
पर चाची ने कहा- तुमने ही तो मुझे कहा था कि तुम मुझे माँ बनाओगे! तो तुम मुझे माँ बना दोगे तो मैं तुम को ये रोज़ दूँगी!

और उन्होंने मेरे लण्ड को पकड़ लिया और जैसे ही उन्होंने मेरा लण्ड पकड़ा तो मेरे बदन मैं एक करंट दौड़ा और मैंने चाची के बूब्स को पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया। वो भी गरम हो रही थी, मैंने उनके पेटिकोट का नाड़ा खोला, उन्होंने पेंटी नहीं पहनी हुई थी। फिर मैंने उनकी फुद्दी में अपनी उंगली घुसाई और अन्दर बाहर करने लगा। वो उत्तेज़ना के कारण अजीब आवाजें निकल रही थी आऽऽऽह आऽऽऽ आऽऽअ ऊऽऽ ऊँह श्श्श्श्श्श म्म्म्मम्म आऽऽह और बोल रही थी- और करो और करो!

अब मुझे भी जोश आने लगा था तो मैंने चाची को बेड पर लिटाया और उनकी फुद्दी को अपनी जीभ से चाटने लगा। अब वो और जोश के कारण आऽऽऽ अअऽ अआअ अहहहहः श्श्श्श्श्श अम्म्म्म उम्म्म ऊऊऊऊ कर रही थी!

फिर कुछ देर उनकी फुद्दी को चाटने के बाद उन्होंने मुझ से कहा कि वो झड़ने वाली है, और झड़ गई, मैंने उनका सारा रस पी लिया और वाह दोस्तो, उनका जूस पीने के बाद मुझे तो जैसे नशा सा चढ़ गया। फिर मैंने चाची को मेरा लण्ड चूसने को कहा पर उन्होंने मना कर दिया और कहा कि उन्होंने आज तक किसी का नहीं चूसा है!

मैंने उनसे कहा- मैंने भी आज तक किसी की फुद्दी को नहीं चाटा है, आज मैंने आपकी ही फुद्दी को पहली बार चाटा है।

मेरे ऐसा कहने के बाद उन्होंने मेरा लण्ड चूसना शुरू कर दिया। वाह दोस्तो, उन्होंने मेरा लण्ड ऐसे चूसा जैसे कोई छोटा बच्चा लॉलीपॉप चूसता है। कुछ देर मैंने चाची से कहा कि मैं झड़ने वाला हूँ तो उन्होंने कहा कि मैं उनके मुँह में झड़ जाऊँ!

मैंने उनके मुँह में एक लम्बी पिचकारी मारी जिससे उनका मुँह मेरे वीर्य से भर गया और उन्होंने मेरा सारा वीर्य पी लिया।

हम दोनों कुछ देर ऐसे ही लेटे रहे और फिर मैं चाची के स्तन चूसने लगा और इसी बीच मेरा लण्ड फिर से खड़ा हो गया, मैंने चाची से कहा- मैं तैयार हूँ!
उन्होंने अपनी टाँगें फ़ैलाई और मैंने अपना लण्ड उनकी फुद्दी के द्वार पर रख कर एक धक्का मारा जिससे मेरा आधा लण्ड उनकी फुद्दी में घुस गया और उन्होंने मेरे कान में चुपके से कहा की ज़रा धीरे!

मैंने एक और धक्का मारा, चाची के मुँह से एक छोटी सी चीख निकली और फिर मैंने अपना काम चालू किया। मैं जैसे जैसे स्पीड बढ़ाता, चाची जोश में आयी और उनके मुँह से आवाजें निकलती- ऊऊऊऊ अहहहाहा श्श्श्श्श्श्श म्म्म्म्म् म्म्मम्म अहह हहहहः और कहती- और जोर से! और जोर से!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here