हाय पाठकों, यह मेरी पहली कहानी है। मेरा नाम सोनू हे। मैं चौबीस साल का हूँ। मैंने अपनी पढ़ाई पूरी कर ली है। मेरी लंबाई छह फीट लंबी है, और मेरी मजबूत लंबाई आठ इंच लंबी है।

मुझे यह कहानी बताते हुए बहुत खुशी हो रही है लेकिन जब मैंने इसे किया तो मुझे बहुत अच्छा लगा।

मेरी चचेरी बहन सोनिया अभी 19 साल की है, जिसे मैंने चोदा था। इसकी लंबाई ज्यादा नहीं है, यह पांच होगी। लेकिन उसके स्तन बहुत बड़े हैं। वह होशियार भी है। उसकी गांद भी पीछे से उभरी हुई थी।

एक दिन जब हम सब उस दिन शादी में गए थे तो वह घर में थी। हम सभी शादीशुदा थे, जब उसकी मां ने मुझे घर जाने के लिए कहा। भोजन लेना था।

मैंने कार निकाली, जब मैं घर पहुंचा, तो मैंने देखा कि घर में कोई नहीं था। तभी मुझे बाथरूम से पानी गिरने की आवाज़ आई। वह नहा रही थी।

फिर मैं बैठ गया, तब मैंने देखा कि उसके बाथरूम के दरवाजे में एक छेद था। जब मैंने छेद के अंदर देखा तो मेरे होश उड़ गए। सोनिया अपनी चूत को हाथ से सहला रही थी।

मैं यह देखकर पागल हो गया। मुझे कुछ समझ मेँ नहीँ आय। फिर मैंने देखा कि वो अपने हाथों से अपनी चूत रगड़ रही थी। उसके चेहरे के भाव देखकर मेरा लण्ड खड़ा हो गया। मैं अपना लण्ड सहला रहा था। फिर तलाश शुरू की।

मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि वह ऐसा कर सकती है। तब मुझे लगा कि हर लड़की चाहती है। फिर उसने अपना गद्दा उतारा। फिर उसने उसमें पानी डाला और फिर वह नहाने लगी।

मैं बाहर गया और बैठ गया, कपड़े पहन कर जैसे ही वह बाहर आई।

मैंने अपना लण्ड सहलाया। उसने मेरे लण्ड की तरफ देखा। फिर मैंने कहा, ‘मैं तुम्हें खाना देने आया हूँ।’

फिर वो किचन में चली गई। मैंने भी उसका पीछा किया। फिर मैंने हिम्मत करके अपना हाथ उसके कंधे पर रख दिया। वह वहां से चली गई। उसने अपने बालों को हिलाना शुरू कर दिया।

मैंने कहा – ‘मैंने अपने बाल झटके।’

सोनिया चुदने के लिए राजी हो गई
फिर मैंने उसके बालों को हिलाना शुरू कर दिया। मैंने उसके बोबो पर अपने बाल रख दिए और हाथ लगाने लगा। वह समझ गई कि मुझे क्या चाहिए।

फिर मैं उसके बूब को दबाने लगा। वह शरमाने लगी और आँखें झुका ली। फिर मैंने उसे पकड़ा और उसके स्तनों को दबाने लगा। वो मदहोश होने लगी। मैंने उसके पेट पर हाथ रखना शुरू कर दिया।

उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी के अंदर डाल दिया। मैं उसकी चूत को सहलाने लगा। वो गर्म हो चुकी थी। तब मैं उसे चूमने शुरू कर दिया, वह मुझे इस काम में मदद की।

उसका हाथ पकड़ कर मैंने अपने लण्ड पर रख दिया। वो पकड़ के दबाने लगी और फिर वो बैठ गई।

मेरी पैंट की ज़िप खोल दी और 8 इंच लंबा लण्ड बाहर निकाल लिया। लण्ड देख कर वो पागल हो गई।

उसने कहा- ‘अगर यह लंड मेरी प्यारी चूत में चला गया तो मैं मर जाऊँगी।’

मैंने कहा – ‘पहले इसे मुँह में लो।’

उसने बड़े प्यार से जीभ से चाटना शुरू कर दिया। मेरे मुँह से आवाज़ आने लगी- ‘मुँह में ले लो!’

मुझे बहुत मजा आ रहा था। फिर मैंने उसके पूरे कपड़े उतार दिए। वह शरमा रही थी।

मैंने कहा- “पहले कभी सेक्स किया था?”

उसने कहा, नहीं’।

मैंने कहा – ‘मैं आज तुम्हारी सील तोड़ दूंगा, मजा आ जाएगा।’

फिर मैं उसके निप्पलों को दबाने लगा, वो h आह आह ’करने लगी। उसके गुलाबी गुलाबी निप्पल कितने प्यारे लग रहे थे। मैंने उसे अपने दांतों से काटना शुरू कर दिया।

वह जोर-जोर से आहें भरने लगी, बोली- ‘फ्रीज, आज मुझे जवान लड़की बना दो।’

मैंने अपना चेहरा उसकी चूत पर रखा और चाटने लगा। चूत की खुशबू बहुत प्यारी थी। मैंने एक घंटे तक उसकी चूत चाटी।

सोनिया की कुंवारी चूत की चुदाई
वो मदहोश हो गई, उसने कहा- ‘मीरा चूत फाड़ दो, आह आह आह और जामम कीई।’

मैंने अपना लण्ड उसकी चूत पर रख दिया। मेरा लण्ड गरम लोहे की सलाखों की तरह जल रहा था।

उसने कहा, तुम्हारा लंड कितना गर्म है। मैंने उसे छेद पर रखा और धक्का दिया। वह चिल्लाई।

मैं फिर से दौड़ी, लेकिन मेरा लण्ड छेद से बाहर निकल गया। उसने कहा ‘आओ और सीखो फिर मेरी चूत को फाड़ दो।’

मुझे गुस्सा आया। मैंने उसके पैर फैलाए और लण्ड डाल दिया।

वह चिल्लाया, ‘बहुत दुख नहीं है।’ पर मैं कहाँ रुकने वाला था, वो दर्द से चिल्ला रही थी। I आह्ह न धीरे, प्लीज सीई!

थोड़ी देर बाद वह नशे में हो गई और बड़े प्यार से उसे लेने लगी और बोली, ‘मेरे राजा जरा जम के चोदो, मुझे मजा आ रहा है।’

उसकी चूत से खून निकलने लगा। वह डर गई। मैंने कहा कि डरो मत, यह पहली बार है।

वो समझ गई और मैंने फिर से चुदाई शुरू कर दी। फिर मैंने उसके दोनों बूब्स के बीच में लण्ड को रगड़ना शुरू कर दिया। यह बहुत मज़ेदार था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here