मैं मानस हूं, मैं 46 साल का हूं और मेरी सेक्सी पत्नी शैला (बदला हुआ नाम) 40 साल की है। हमारी शादी को 20 साल हो गए हैं।

अब वह शैला में आखिरी बात नहीं थी। अब वो चुदाई करते हुए लेट जाती थी, उसमें कोई सेक्स नहीं बचा था। मैं उसके साथ इस तरह का सेक्स करके बहुत बोर हो गया था।

एक दिन जब मैंने शैला की दराज का ताला खोला, तो उसमें एक बड़ा डिल्डो था।

मैं तुरंत समझ गया कि अब उसे किसी साधारण, मोटे एलएनडी की जरूरत नहीं है, शायद उसे इस डिल्डो से बड़े एलएनडी की आदत हो गई थी, इसलिए उसे अब मेरे एलएनडी को चोदने में मजा नहीं आया।

यह सब देखकर अब मेरा मन किसी प्लास्टिक के लण्ड के साथ नहीं था, लेकिन मैं सच में उसे किसी मोटे और बड़े लण्ड से चुदाई करते हुए देखना चाहता था।

वैसे, शैला से पहले एक बहुत ही सेक्सी महिला थी और वह एक दिन में कई बार चूमने के लिए प्रयोग किया जाता है, वह डर नहीं था।

वह सेक्स में एक विशेषज्ञ थी और सेक्स में सभी काम करने को तैयार थी। वो चुदाई करते समय लण्ड को मुँह में ले लेती थी, अपनी गाँड में भी लंड का मज़ा लेती थी, 69 पोज़िशन में ओरल सेक्स का मज़ा लेती थी।

चोदते समय उसकी दर्द भरी आवाज़ में चीखना, गर्म गर्म साँसें छोड़ना, चूत और चूत को उठा कर लंड लेना, जीभ से लंड को सहलाना, उस झुकी हुई आँख और मुँह को चूसना और पूरे लंड को मुँह में भर लेना, हम दोनों को बहुत मज़ा आया।

अब यह कुछ वर्षों के लिए ठंडा हो गया था और मुझे इसे गर्म करना था।

एक दिन मैं और शैला रात को कहीं से आ रहे थे। जब हम इमारत में आए, तो हमने देखा कि नया चौकीदार गेट पर था। वह कोई पचास साल का होगा। वह एक लंबा-चौड़ा, चमड़ी वाला आदमी था।

मैंने नोट किया कि जब हम ऊपर जा रहे थे, वह मेरी पत्नी शैला की गाँड को घूर रहा था।

शैला एक बुरा सपना पहने हुए थी, इसलिए उसकी गाँड मस्त लग रही थी।

मैंने सोचा कि क्यों ना मैं शिला को चोदने के लिए कहूँ।

लेकिन मुझे अभी भी उसके लण्ड का आकार देखना था क्योंकि शैला को मोटे लण्ड की ज़रूरत थी।

मैं दूसरे दिन शराब पीने के लिए चौकीदार के पास गया और जब वह पेशाब करने आया तो मैं भी उसके साथ गया।

जब उसने अपनी पैंट खोली और लण्ड को बाहर निकाला तो मैं उसके लण्ड को देखकर दंग रह गई। काला सा मोटा, नौ इंच लंबा था। मैं उसके लण्ड को देख कर खुश हो गई।

उसका नाम मिंदर था, लेकिन एक बहुत गर्म दिमाग वाला आदमी था और बहुत गाली देता था।

मैंने भी बात करते हुए थोड़ा सा पी लिया, फिर उससे पूछा कि तुम मेरी पत्नी को घूर रहे थे।
सबसे पहले, वह थोड़ा डर गया था, लेकिन नशे में नशे में उसने कहा – वह बहुत अच्छा है … उसकी गांड क्या है!

मैंने पूछा- क्या तुम उसे चोदोगे?
इस पर वो उठी और बोली- चलो, अब चोद डालूँगी।

अब हम घर की तरफ चल दिए। मैं उसे घर ले गया और शैला से कहा- आज वह यहीं सोएगा।

वह अब हमारे साथ सोता था।

हम बिस्तर पर थे और वह नीचे सो रही थी।

थोड़ी देर बाद, मैं उठा और मैंने जो पहना था उसके ऊपर डाल दिया।

उसने अपनी लुंगी हटा दी। अब उसका काला मोटा और बड़ा लण्ड खुला हुआ था। उन्होंने अब सोने की एक्टिंग शुरू कर दी।

मैं दूसरे कमरे में चला गया और जोर से दरवाजा बंद कर दिया।

दरवाजा बंद होने की आवाज पर शैला उठ गई। जब उसने मिन्दर के बड़े लंड को देखा तो उसे कुछ होने लगा।
वह सोचने लगी कि मिंदर नशे में सो रहा है तो वह अपने लण्ड को सहलाने लगी।

फिर मैंने दरवाजा खोला तो शैला डर गई लेकिन मैंने उससे कहा- मज़ा आ गया।

अब मिंदर भी उठ गया। उन्होंने शैला की जमकर चुदाई की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here