प्रेषिका : श्रेया अहूजा

मैं श्रेया आहूजा आपको ऐसी वास्तिविकता से परिचित कराने जा रही हूँ जिससे आप अनजान होंगे ! ब्लू फिल्म की हिरोइन के बारे में जो आपके ही मोहल्ले की गलियों में घूमती हैं पर आपसे अपरिचित हैं ! यह है मोनिका जो भोपाल विमेंस कॉलेज में पढ़ती है !

देखने में साधारण फिगर का पता नहीं क्यूंकि हमेशा ढके कपड़े पहनती है ! आज मुझे अपने साथ मूवी सेट पर ले जा रही है क्यूंकि मुझे पैसों की ज़रूरत है ! उसे भी रहती थी…. घर पर बूढ़ा बाप, लाचार माँ, बेरोजगार भाई, बिन बिहाई बड़ी बहन … ये सब देखकर उसने यह रास्ता चुना !

मोनिका : देखो किसी को बताना मत … वैसे भी ये फिल्में यहाँ नहीं विदेश में रिलीज़ होती हैं !

श्रेया : पर करना क्या होगा ??

मोनिका : कुछ नहीं मेरी जान … बस किसी अनजान लोगों से चुदवाना होगा !

श्रेया : पर कहीं कोई बीमारी लग गई या फिर मैं माँ …?

मोनिका : नहीं नहीं रे … उनके पास डॉक्टर भी होता है … दे फर्स्ट चेक फॉर एड्स !!

श्रेया : पर मिलेगा कितना ?

मोनिका : तू बीस हज़ार मांगना … बाकि मुझ पे छोड़ देना ! अब चुप कर डायरेक्टर साहब आ गए !

श्रेया : कौन ? ये बुढ़ऊ अँगरेज़ … ये है डायरेक्टर ?

मोनिका : श श …चुप कर जा वर्ना जॉब गई हाथ से …! लड़कियों की कमी नहीं है इंडिया में .. और ये तो मुंबई है !

मुंबई के पोश लोकेलिटी में फ्लैट के अन्दर सब हो रहा था … चार कैमरा …दस बारह लोग ! हम दो लड़कियाँ !!

डायरेक्टर : तो यह है श्रेया … कपड़े खोलो जरा !!

श्रेया : पर सर …

मोनिका : अरी करती जा ! मत शरमा … सब अपने लोग है यहाँ !

मैंने अपनी जींस उतारी और टी शर्ट भी … सिर्फ अंडर-गारमेंट्स में रह गई थी मैं …

डायरेक्टर : सब खोल ! तभी तो बोली लगेगी ….

मैं अपनी पैंटी और ब्रा भी हटाई, मेरी फुद्दी और कांख के बाल देख वो नाराज़ हो गया !

उसने तुरंत अपने बार्बर से शेव करवाया … और दो लोग अच्छे से मुझे मालिश कर रहे थे …. मुझे गन्दा लग रहा था इसलिये मुझे एक कमरे में ले गए। वहाँ सिर्फ तीन लोग ही थे …

डायरेक्टर : मोनिका वाट आ बेब ! पूरे पचास हज़ार दूँगा ! पर तीन से चुदवाना होगा … एक गांड चोदेगा एक बुर एक ओरल …

मोनिका : वाह … सब करवा लो साहब … पर एक बात पूछूँ? … आप तो अँगरेज़ है … इतनी प्यारी हिंदी ?

डायरेक्टर : पैसा सब करवाता है … अब इसी फिल्म के हज़ारों डालर मिलेंगे …

मोनिका : कौन देता है इतना ? और इंडिया में ये फिल्में रिलीज़ क्यूँ नहीं होती ?

डायरेक्टर : कौन देता है उससे तुम्हें क्या ? और इंडिया में रईस लोग हैं, वो इन फिल्मों के लिए बहुत देते हैं पर पब्लिक नहीं होती ऐसी फिल्म ! पोर्न साईट पर पेड विडियो हैं … लेट्स वर्क !

फिर डायरेक्टर साहब कमरे में आये… सब चले गए। कमरा बंद हो गया .. उसने मुझे एक इंजेक्शन मेरे चूतड़ों पर लगाया …फिर मेरा होश खोने लगा .. मदहोशी के हालत में में देखा मोनिका बिना कपड़ों के आई और मुझसे नंगी चिपक गई .. अजीब लग रहा था … फिर चार लोग आये … दो मोनिका को चोदने लगे और एक ने मेरे मुँह में लंड डाल दिया …

मैं चूसने लगी …

मोनिका ने फिर मेरी टांगें फैलाईं … मेरी फुद्दी को चूसने लगी … दो लड़के मेरी चूचियों को चूसने लगे … मैं पागल हो रही थी दोस्तो … मन कर रहा था बहुत चुदुँ … डायरेक्टर उनको बताये जा रहा था, फिल्म में चार हीरो थे और शायद मैं मुख्य हिरोइन !

एक मेज़ पर लेटा दिया गया था मुझे … पूरा याद नहीं … पर एक लंड मेरी गांड में और एक फुद्दी में … दर्द में मज़ा आ रहा था …

अह अह अह अ ह … मुझसे रुका नहीं जा रहा था … वो लोग गोली खाकर चोद रहे थे शायद बिना कंडोम के … बहुत दमदार लोग थे … इतना बड़ा लंड आज तक नहीं देखा था …

एक एक करके सबने अपना वीर्य मेरे मुँह में निकाला पर मैंने थूक दिया … डायरेक्टर नाराज़ हो गया … फिर अपने क्रू मेम्बर से मेरे मुँह में मुठ मरवाई … मुझे खट्टा पानी पीना पड़ा … फिल्म बन चुकी थी … वो लोग जा चुके थे पैसो का लेन-देन चल रहा था तभी कैमरा-मैन और दो स्पॉट-बॉयज़ ने कमरा बंद किया और मुझे चोदना चाहा … मुझे होश आ चुका था … तीनो नंगे मेरे ऊपर आ गए तभी डायरेक्टर साब आ गए और उनको निकल बाहर किया।

मैं मोनिका के साथ घर आ गई !

मोनिका : ये ले अपने बीस हज़ार … फिर करेगी न ??

श्रेया : थैंक्स ! पर बस अब नहीं करुँगी… कुछ भी क्यूँ न हो जाये !!

मोनिका : अरे मेरी जान ! एक तो फ्री का सेक्स और पैसे ही पैसे …. खैर तू यह गोली खा ले ! बेबी नहीं होगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here